राजस्थान किसान खेत तलाई योजना

राजस्थान किसान खेत तलाई योजना

वर्षा जल संग्रहण योजना

राजस्थान खेत तालाब खुदाई योजना / वर्षा जल संग्रहण योजना

खेत तालाब खुदाई योजना सरकार द्वारा

जाने राजस्थान किसान खेत तलाई (फार्म पॉन्ड) योजना के बारे में

राजस्थान में खेत की खुदाई करके वर्षा जल को संग्रहित करने के लिए किसानों को मिलने वाली सब्सिडी योजना के बारे में जानकारी 

यह योजना राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2017 में मई के महीने में लांच की गई थी

खेत खुदाई तलाई (फार्म पॉन्ड)/वर्षा जल संग्रहण योजना

वर्षा जल के संग्रहण के लिए राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थाम के सभी जिलों में वर्षा जल के संग्रहण के लिए खेतों में खुदाई करके वर्षा जल के पानी को इकट्ठा करके उससे भूमि सिंचाई के रूप में पुनः उपयोग करने के लिए इस योजना का शुभारंभ किया गया है इसके लिए राजस्थान सरकार तथा केंद्र सरकार दोनों मिलकर कुछ-कुछ अनुपात में अनुदान जारी करते हैं

वर्षा जल के संग्रहण के लिए किसानों को सरकार के द्वारा जारी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होता है जिसके लिए उन्हें लघु किसान या सीमांत किसान तथा वृहत किसानों सभी के लिए यह योजना फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें किसान बरसात के पानी को अपने खेत के किसी भाग में तलाई बनवा कर एकत्रित कर सकता है तथा उसे पुणे कम से कम एक मौसम तक सिंचाई के रूप में उपयोग कर सकता है

वर्षा जल संरक्षण के लिए मिलने वाली सरकार द्वारा अनुदान राशि

किसान द्वारा अपने खेत में वर्षा जल के इस कथन के लिए उपयोग में आने वाली तलाई के निर्माण के लिए राज्य सरकार तथा केंद्र सरकार दोनों द्वारा कुछ राशि का अनुदान दिया जाता है जिसका उल्लेख इस प्रकार है

अगर कृषक अपने भूमि में तलाई का निर्माण करवाता है तो उसमें लगने वाली लागत का 50 प्रतिशत राशि या अधिकतम  52500 रुपए तलाई के निर्माण के लिए तथा ₹75000 उस तलाई में पक्की फर्ज या तलाई के फर्श में प्लास्टिक की पन्नी बिछाने के लिए अनुदान राशि दी जाती है इसकी अधिकतम राशि लगभग 300 माइक्रोन BI के आधार पर दी जाती है इन दोनों में से जो भी कम हो राशि उसी के अनुसार देय  होती है

योग्यता/पात्रता 

वर्षा जल संरक्षण योजना के लिए खेत तलाई फार्म पॉन्ड योजना के लिए किसान के पास स्वयं के नाम जो व्यक्ति आवदेन कर रहा है, के नाम पर कम से कम आधा हेक्टेयर ( डेढ़ बीघा)  कृषि योग्य भूमि होनि आवष्यक हैं

 साथ ही इसके लिए आवेदन करने वाले कृषक के पास उस जमीन से जुड़े कागज जैसे जमाबंदी या रजिस्ट्री होनी चाहिए जैसे कि उस जमीन के खसरा नंबर के आधार पर उसकी मां को देखकर संबंधित क्षेत्र के पटवारी द्वारा इस बात की पुष्टि की जाती है की कृषक के पास यह भूमि कृषि के योग्य है या नहीं

कब मिलता है लाभ जाने इसके बारे में 

राजस्थान भूमि खेत तलाई फार्म पॉन्ड योजना/वर्षा जल संरक्षण योजना के लिए किसान को अपने खेत में बनवाए जा रहे तलाई के लिए तलाई के पूर्ण रूप से बनने के बाद 30 दिन के अंदर-अंदर  इस योजना के लिए आवेदन करना अनिवार्य  होता है

आवेदन करने के बाद संबंधित क्षेत्र के पटवारी तथा राजस्व विभाग के अन्य अधिकारियों द्वारा संबंधित भूमिका जायजा लिया जाता है तथा इस बात की पुष्टि की जाती है की क्या सच में वहां कोई तालाब यह तलाई बनी है जिसका उपयोग कृषि योग्य भूमि की सिंचाई के लिए किया जाएगा अगर ऐसा होता है तो ही कृषक को इसके लिए प्राप्त लाभ राशि सरकार द्वारा स्वीकृत की जाती है

जाने कौन कर सकता है इसके लिए आवेदन और

 किस तरीके से किया जा सकता है आवेदन

वर्षा जल संरक्षण योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसान ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकता है ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करने के लिए वह  दो प्रकार से आवेदन कर सकता है

  1. ईमित्र के माध्यम से
  2. स्वयं  के स्तर पर

अगर किसान जानना चाहता कि वह किस माध्यम से आवेदन कर सकता है तो वह संबंधित ग्राम पंचायत में जाकर या नियर बाई अटल सेवा केंद्र में जाकर इस बात की जानकारी ले सकता है 

इसके अलावा अगर वह किसी मित्र के द्वारा आवेदन करवाना चाहता है तो वह संबंधित किसी नियर बाई ईमित्र किओस्क के पास जाकर इस योजना के लिए ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करवा सकता है

ईमित्र किओस्क के द्वारा आवेदन

अगर कृषक मित्र के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करवाना चाहे तो वह अपनी आसपास के किसी भी ईमित्र पर जाकर आवेदन करवा सकता है जिसके लिए उसे अपने हस्ताक्षर युक्त मूल आवेदन को भरकर ईमित्र धारक को ऑनलाइन करवाने के लिए कह सकता है तथा संबंधित दस्तावेजों को ईमित्र के माध्यम से ऑनलाइन करवा सकता है

 ऑनलाइन आवेदन के बाद ईमित्र के माध्यम से इसकी समय-समय पर जांच भी करवा सकता है

स्वयं के  स्तर पर आवेदन

वर्षा जल संरक्षण योजना का लाभ लेने के लिए किसान स्वयं के स्तर पर भी आवेदन कर सकता है इसके लिए अनिवार्य नहीं है कि उसे किसी मित्र धारक से ही आवेदन करना हो

स्वयं के स्तर पर आवेदन करने के लिए किसान को आवेदन फॉर्म को प्रिंट आउट करवा कर उसमें मांगी जाने वाली जानकारी को भरकर ऑनलाइन ई प्रपत्र फॉर्मेट में संबंधित दस्तावेजों को संलग्न करके अपलोड करना होगा

आवेदन करने के लिए आवेदक को ऑनलाइन भुगतान करके संबंधित रसीद प्राप्त करनी होगी

इसके लिए आवेदक को मूल दस्तावेजों को स्वयं या डाक सेवा के माध्यम से संबंधित राजस्व विभाग के कार्यालय में भिजवा ना होगा तथा उसकी प्राप्ति की रशीद विभाग के कार्यालय द्वारा प्राप्त करनी होगी

इस योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक कर्ता के पास निम्नांकित  दस्तावेजों का होना अति आवश्यक होगा

  1. आधार कार्ड/भामाशाह कार्ड/जन आधार कार्ड
  2. जमाबंदी की नकल (जो कि आवेदन कर्ता के नाम पर हो तथा 6 महीने से पुरानी नहीं होनी चाहिए)
  3. किसी खाली पेपर पेपर पर स्वयं द्वारा शपथ पत्र मैं यह यह उल्लेखित होना चाहिए कि उसके पास कृषि योग्य असिंचित भूमि है

आवदेन पत्र परफोर्मा 

Note:- अगर जमीन की जमाबंदी किसी संयुक्त खातेदार की है तो ऐसी स्थिति में खातेदार की आपसी सहमति के आधार पर प्रत्येक किसान के हिस्से में कम से कम 1 हेक्टेयर से अधिक होने पर ही एक कचरे में अलग-अलग फॉर्म पाउंड ( खेत तलाई ) बनाने के लिए लाभ प्राप्त कर सकते हैं

किस विभाग  से मिलता है लाभ

केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार दोनों सरकारों का द्वारा इस योजना के लिए राशि अनुदानित की जाती है जिसका आनुपातिक तौर पर हिस्सा 50:50 होता है 

तथा आधे हिस्से में केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों द्वारा अधिकतम  52500 या इससे कम तक की राशि सीकर की जाती है तथा आधी राशि स्वयं किसान को अपने स्तर पर खर्च करनी होती है

वर्षा जल संरक्षण योजना के लिए कृषक द्वारा khet talai/ farm pond योजना के लिए कृषि उपनिदेशक द्वारा फार्म की जांच करने के बाद अगर फॉर्म में उल्लेखित जानकारी के सही पाए जाने पर आवेदन के समय दे गए मोबाइल नंबर पर स्वीकृति के मैसेज के द्वारा सूचित किया जाता है तथा अगर फॉर्म में कोई कमी हो तो उसके लिए भी मोबाइल नंबर मैसेज करके सूचित किया जाता है

कहां करें संपर्क इस योजना के लिए

अगर आवेदन करता ईमित्र पर आवेदन नहीं कर पाए या स्वयं के स्तर पर भी आवेदन करने में असमर्थ हो तो वह अपनी ग्राम पंचायत स्तर पर या पंचायत स्तर पर या उप जिला स्तर या जिला स्तर पर उपरोक्त किसी भी स्तर पर आवेदन कर सकता है इसके लिए आवेदन कर्ताओं को अपनी ग्राम पंचायत यस संबंधित आवेदन विभाग जहां भी वह आवेदन कर रहा हो मैं उपस्थित कृषि पर्यवेक्षक से संपर्क करें इसके लिए आवेदन कर सकता है तथा संबंधित जानकारी भी ले सकता

अगर कोई भी आवेदन करता इसके लिए आवेदन करना चाहता है तो वह

क्रमआवदेन के लिए विभाग स्तरसंबंधित अधिकारी 
1ग्राम पंचायत स्तर पर
कृषि पर्यवेक्षक से
2पंचायत समिति स्तर परसहायक कृषि अधिकारी से
3उप जिला स्तर परसहायक निदेशक कृषि विस्तार/कृषि उद्यान अधिकारी
4जिला स्तर परउप निदेशक उद्यान/उप निदेशक कृषि विस्तार

आवेदन करता इस योजना के बारे में संपूर्ण विस्तृत जानकारी नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अधिसूचना के अनुसार जान सकता है

              यहां क्लिक करके पढ़ें पुरी जानकारी

किसान खेत तलाई योजना के लिए online आवेदन ईमित्र से कैसे करे जाने इसके बारे में 

 (subsidy at  farm pond yojna )

राजस्थान किसान (खेत तलाई) योजना/ वर्षा जल संरक्षण योजना 

1 thought on “राजस्थान किसान खेत तलाई योजना”

Leave a Comment